Benefits of IVF Treatment
What are the Benefits of IVF Treatment?
April 7, 2020
Causes of Infertility
How to treat unexplained infertility?
April 7, 2020
Embyros travel along fallopian tubes

Embyros travel along fallopian tubes

7
April
2020

ट्यूब ब्लॉक और निसन्तानता

Author Name: DR. RANINGA DARSHANKUMAR ARUNBHAI on April 07, 2020

माता पिता बनना और उस अनुभव को जीना अपने आप में अनोखी फ़ीलिंग है। जब आपका शिशु आपको देख कर मुस्कुराता है तब आपकी सारी थकान व दर्द चले जाते है और आपके चेहरे पर जो सुकून आता है वह किसी और चीज़ से नहि आ सकता है । आपकी इस ख़ुशीमें निसन्तानता सबसे बड़ी रुकावट है।

महिलाओं में बच्चा न होने का एक बहुत बड़ा कारण बच्चेदानी की दोनो साइडसे निकलती हुई नलीया जिसको हम अंग्रेज़ी में फ़लोपीयन टूब कहते हे उसमें कोई रुकावट होना है। फ़ेलोपियन टूब बच्चेदानी के दोनो साइड से निकलती हे और अंडेदानी तक जाती हे ।अंडेदानी यानी कि ओवरी में से अंडा निकलके इन टूब में आता हे और टूब में ही शुक्राणु से साथ मिलके भ्रूण बनाता हे। यह भ्रूण टूब से होके बचेदानीमें पहुँचता हे और परत से चिपकके उसमें से बच्चा बनता हे ।

जब यह नली में किसी कारणवश रुकावट आ जाए तो महिला का अंडा नली में आगे नहीं बढ़ पाएगा व शुक्राणु से मिल नहीं पाएगा । तक़रीबन चालीस पर्सेंट महिलाओ में निसंतनता इसी वजह से होती हे ।

अब हम गौर करे तो नली बंध होने के बहुत सारे कारण हो सकते हे । अगर नली में इन्फ़ेक्शन हो जाए तो उसमें सूजन आ जाती हे और वो ब्लॉक हो जाती हे । भारत जेसे देश में यह इन्फ़ेक्शन अधिकतर टिबी के कारण होता हे ।कई बार टूब पेट के दूसरे अंगो के चिपक जाती हे ।अगर कभी पहेले पेट का आपरेशन हो रखा हो तो नली के चिपकने की और उसके रुकावट की संभावना और बढ़ जाती हे ।जब कभी महिला के नसबंदी का आपरेशन होता हे तो उसके दोनो टूब को क्लिप कर के बंध कर दिया जाता हे।

आपकी फैलोपियन ट्यूब्स बंद है कि खुली है कि ये जानने के लिए कई तरह की जाँचें होती है जैसे की एक्स रे की जाँच जिसको “एचएसजी” भी कहते हैं एवं दूरबीन की जाँच, यानी की हिस्टरोलैप्रौर्कोपी । एक्सरे की जाँच यानीकी एचएसजी सरल हे परंतु इतनी सटीक नहीं होती है, हो सकता है कि आपकी ट्यूब खुली हो लेकिन उसमें बंद दिखाई दें । हिस्टरोलैप्रौर्कोपी काफ़ी हद तक सटीक होती है ।

तो अब आते हैं की बंद फैलोपियन ट्यूब का उपाय क्या है । हमने देखा हे के बहुत सारे लोग नली खुलने के लिए घरेलू इलाज एवं दवाइयाँ लेते हे लेकिन इस स्थिति में ये सब करने से कोई परिणाम नहीं मिल पाता हे । हमें यह अच्छी तरह से जान लेना चाहिए की नलीयोंको खोलने की कोई दवाई दुनिया में बनी ही नहीं हे । और यह सब काल्पनिक इलाज करके हम अपने आप को ही हानि पहुँचा रहे होते हे । यहाँ यह भी सोचना आवश्यक है कि अगर ट्यूब्स को ऑपरेशन से खोल दिया भी जाए तो प्रेगनेंसी लगने की संभावना कितनी होती है।अगर ग़ौर से देखा जाए तो फैलोपियन ट्यूब को खोलने वाले ऑपरेशन के बाद भी उससे प्रेग्नेंसी लगने की संभावना और भी कम है। अगर नसबंदी का ऑपरेशन हुआ है और इसमें एक बार और ऑपरेशन करके नलियों को आपस में जोड़ते हैं लेकिन उसमें भी प्रेग्नेंसी लगने के चांस कम होते है और “एकटॉपिक” यानी कि की नली में ही बच्चा लगने के चांस बढ़ जाते हैं।

तो नलियां बंद होने के कारण अगर बच्चा नहीं हो पा रहा हो तो इस स्थिति में नलियों की जाँचे एवं नलियों को ठीक करने के ऑपरेशन व भिन्न भिन्न प्रकार की दवाइयाँ करने में धन और समय बरबाद करने से अच्छा है कि हम टेस्ट ट्यूब बेबी यानी की आईवीएफ़ के बारे में सोचे । क्योंकि आईवीएफ़ यानी कि टेस्ट टूब बेबी का अविष्कार ही इसी लिए किया गया था जिसमें अंडदानी से अंडा निकाल कर बाहर ही शुक्राणु से मिलाकर भ्रूण बना लेते हे और भ्रूण को सीधे बचेदानी में प्रत्यारोपित करते हे । सरल शब्दो में कहे तो आपकी टूब को बायपास कर देते हे । अगर आपकी सिर्फ़ नलियौ में ही दिक़्क़त है और बाक़ी सब चीज़ें ठीक है तो टेस्ट ट्यूब बेबी से बच्चा होने की संभावना ज़्यादा से ज़्यादा यानी कि सतर से अस्सी परसेंट होती है ।

तो आख़िर मैं यह कहना चाहूंगा कि अगर आपकी बचेदानी की नलियौ में दिक़्क़त हैं या कोई रूकावट है तो इस स्थिति में ज़्यादा विचार न करते हुए हमें सीधे टेस्ट ट्यूब बेबी यानी आईवीएफ़ की ओर सोचना चाहिए ताकि समय एवं धन की बचत के साथ हम हमारे परिवार में जल्द से जल्द खुशिया ला सके !

You may also link with us on Facebook, Instagram, Twitter, Linkedin, Youtube & Pinterest

Talk to the best team of fertility experts in the country today for all your pregnancy and fertility-related queries.

Call now +91-7665009014

RELATED BLOG

 

Comments are closed.

Request Call Back
Call Back