What diet should you follow for a successful IVF ?
October 16, 2018
Ectopic Pregnancy : Cost, Causes and Risk
October 18, 2018
17
October
2018

नि:संतान महिलाओ के लिए जरुरी जानकारी – आईवीएफ सफलता के लिए 10 टिप्स

इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ ) की सफलता दर को बेहतर करने के लिए  कई तथ्य मायने रखते हैं|  सामान्य आईवीएफ सफलता दर 20 से 35 फीसदी के बीच है जो महिलाओ के उम्र के  अनुसार कम ज्यादा होती है | समय के साथ इसकी सफलता दर में वृद्धि हो रही है, कई लोगो को यह लगता है की आईवीएफ में पहली बार में सफलता नहीं मिलती है लेकिन यह गलत धारणा है |  आईये जानते है किस तरह से आईवीएफ को सफल बनाया जा सकता है |

 

आईवीएफ सफलता की संभावनाओं को बेहतर बनाने के लिए 10 टिप्स

इन्दिरा आई वी एफ पटना की आई वी एफ स्पेशलिस्ट डॉ. अनुजा सिंह कहती है कि  आईवीएफ की कोशिश करने से पहले आपको कुछ आईवीएफ सफलता टिप्स को जानने की जरूरत है।

  1. अपना होमवर्क करें

-एक अच्छा आईवीएफ केंद्र चुनना सफल गर्भावस्था के अवसरों को निर्धारित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है हालांकि सभी क्लीनिक एक-दूसरे के समान कार्य करते हैं लेकिन भ्रूण वैज्ञानिको का कौशल, प्रयोगशाला में स्थितियां जहां भ्रूण बढ़ता है, सबसे अहम भूमिका निभाते हैं। इस तरह के आईवीएफ सेंटर का चयन  करें –

-प्रति भ्रूण स्थानांतरण गर्भावस्था अनुपात

-समान उम्र वाले दम्पतियों में व आप जैसी ही समस्या वाले दम्पती में गर्भावस्था दर

-चिकित्सकों के क्लिनिक और बोर्ड प्रमाणन की मान्यता

-प्रक्रिया में होने वाला खर्चा

-भ्रूण कितने समय तक संग्रहित किया जा सकता है और ऐसा करने की लागत कितनी है?

-जुड़वा या मल्टीपल बर्थ में कितनी सफल गर्भावस्था है?

  1. शुक्राणु संख्या बढ़ाने के लिए स्खलन से बचें

-जो पुरुष प्रक्रिया के लिए शुक्राणु दे रहे हैं, वे इससे पहले 3 से 4 दिन वीर्य स्खलन से बचें, यौन संभोग और हस्तमैथुन से बचना शुक्राणुओं की संख्या और सफल आईवीएफ की संभावनाओं को बढ़ाने में मदद करेगा। यह भी महत्वपूर्ण है कि प्रक्रिया से गुजरने से पहले वीर्य का विश्लेषण किया जाता है। शुक्राणु की गुणवत्ता समय के साथ बदल सकती है |

  1. एक्यूपंक्चर का प्रयास करें

-एशियाई परंपरा कई स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने के लिए एक्यूपंक्चर का उपयोग करती है। कई अध्ययनों से पता चला है कि एक्यूपंक्चर आईवीएफ से गुजर रही महिलाओं के लिए फायदेमंद है, खासकर हस्तांतरण के दिन। ऐसा माना जाता है कि एक्यूपंक्चर गर्भाशय और अंडाशय में रक्त प्रवाह में सुधार करता है जो न्यूरोट्रांसमीटरों को रिलीज करने के लिए उत्प्रेरित करता है। यह भी देखा जाता है कि जिन महिलाओं में भ्रूण प्रत्यारोपण के दिन एक्यूपंक्चर उपचार होता है, उनमें नहीं करने वा​_ली महिलाओं की तुलना में गर्भावस्था की अधिक संभावना होती है। जो महिलाएं इस प्रक्रिया में दिलचस्पी रखती हैं, वे इसे अपनी आईवीएफ केयर में जोड़ सकती हैं।

  1. अच्छी वसा ज्यादा मात्रा में खाएं

– इन्दिरा आई वी एफ इंदौर की आई वी एफ स्पेशलिस्ट डॉ. योगिता परिहार का कहना है कि  हार्वर्ड स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ के एक हालिया अध्ययन में पाया गया कि मोनोंससैचुरेटेड वसा से समृद्ध खाद्य पदार्थ खाने से महिलाओं को आईवीएफ से गर्भवती होने की कोशिश करने में मदद मिल सकती है। ये अच्छी वसा पहले से ही हार्ट की रक्षा, शरीर में कम सूजन और प्रजनन क्षमता में सुधार के लिए जानी जाती हैं। इसलिए एवोकेडोस, नट और बीज, सूरजमुखी तेल और जैतून का तेल जैसे मोनोंससैचुरेटेड वसा से युक्त खाद्य पदार्थ खाएं। प्रजनन क्षमता में सुधार के साथ ही ये खाद्य पदार्थ भ्रूण के विकास के लिए भी बहुत जरूरी है इन्हें अपने आईवीएफ सक्सेज टिप्स में आहार के हिस्से के रूप में जोड़ें।

  1. ध्यान करें और तनाव से दूर रहें

-तनाव से बचना आईवीएफ की सफलता में योगदान देने वाले एक प्रमुख कारक के रूप में शामिल किया जा सकता है। तनाव स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालने के लिए जाना जाता है और प्रजनन तंत्र को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। अपने प्रजनन उपचार के बारे में चिंतित और तनाव महसूस करना काफी सामान्य है, हालांकि आपको अपनी सफलता में सुधार के लिए हर दिन तनाव को दूर करने की आवश्यकता है। आप ध्यान से शुरू कर सकते हैं या हर दिन सुखदायक संगीत सु​_न सकते हैं।  ध्यान से दिमाग में तनाव बहुत कम हो सकता है और आपका शरीर सामान्य रूप से कार्य करने लगता है। वे चिंता पैदा करने वाले विचारो को रोकते हैं और आपकी चिंता को कम करते हैं ताकि आप अपने ट्रीटमेंट के बाद शांत और आराम महसूस कर सकें।

  1. कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड, एल्कोहल और कैफीन से बचें

– इन्दिरा आई वी एफ भुवनेश्वर के आई वी एफ स्पेशलिस्ट डॉ. अक्षय महापात्रो बताते हैं कि  ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) खाद्य पदार्थों को वर्गीकृत करने के लिए एक रैंकिंग प्रणाली है, इस पर निर्भर करता है कि शरीर द्वारा कितनी आसानी से उन्हें पचाया जाता है। स्वस्थ रक्त ग्लूकोज के स्तर को बनाए रखने और वजन घटाने के लिए यह महत्वपूर्ण है। इस श्रेणी में फल, पूरे अनाज, कम वसा वाले डेयरी उत्पाद, ब्रोकोली, मीठे आलू और मशरूम कुछ खाद्य पदार्थ हैं। संसोधित खाद्य पदार्थ और उनके संबंधित तेल और शर्करा में उच्च जीआई होता है जो शरीर के लिए बुरा होता है। वे सूजन को बढ़ाते हैं, शरीर में हार्मोन के स्तर को प्रभावित करते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं।

शराब एक टेराटोजेन (पदार्थ या कारक है जो भ्रूण में विकृतियों को प्रेरित करता है) और भ्रूण के विकास के लिए गंभीर रूप से हानिकारक है, इसलिए इसे हर कीमत से बचा जाना चाहिए। प्रतिबंधित चीजों की सूची में धूम्रपान भी है। यदि  आपको लत है, तो आईवीएफ उपचार के लिए जाने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें। कैफीन भी विकासशील भ्रूण को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करता है।   आईवीएफ उपचार के दौरान और उसके बाद इसे टालना बेहतर होता है।

  1. प्रक्रिया के बाद सेक्स करें

-हालांकि कुछ विशेषज्ञ आईवीएफ प्रक्रिया के बाद सेक्स नहीं करने की अनुशंसा करते हैं, लेकिन कुछ अध्ययनों से पता चला है कि प्रक्रिया के बाद यौन संभोग होने से कुछ हद तक आपके आईवीएफ की सफलता में सुधार हो सकता है। माना जाता है कि सेक्स के दौरान जारी प्राकृतिक हार्मोन और रसायन गर्भधारण की संभावनाओं में मदद करते हैं। इसके साथ आगे बढ़ने से पहले अपने प्रजनन विशेषज्ञ से जरूर सलाह मशविरा करें।

  1. एक परामर्शदाता से बात करो

-आपका मानसिक स्वास्थ्य आपके प्रजनन स्वास्थ्य और गर्भधारण की संभावनाओं को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करता है|  आशावादी, भय, उत्तेजना और यहां तक कि टेरर जैसी भावनाओं पर नियंत्रण रखने के लिए परामर्शदाता से सहायता प्राप्त करें। पूरी प्रक्रिया के माध्यम से आपका साथ देने के लिए अपने जीवन साथी,  करीबी दोस्त या परिवार को रखें।

  1. भारी व्यायाम से बचें

-व्यायाम से अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखना जरूरी है, लेकिन सख्त व्यायाम महिलाओं के प्रजनन स्तर व गर्भधारण की दरों को कम कर सकता है। इसलिए अपनी आईवीएफ प्रक्रियाओं के दौरान सरल हो जाएं और चलने, योग जैसे कम तीव्रता वाले अभ्यासों का चयन करें।

  1. सामान्य रहें, उचित मात्रा में अनुपात में आराम करें

-यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने शरीर को आराम में लाने के लिए एक सतत नींद की नियमितता बनाए रखें। एक दिन में आठ घंटे नींद आदर्श है और आपके आईवीएफ चक्र से कम से कम दो सप्ताह पहले आपकी नींद चक्र नियमित होनी चाहिए। बिस्तर पर जल्दी जाना सबसे अच्छा है और यह राय दी जाती है कि आप बगैर लाइट के सो जाओ। अंधेरे में सोना शरीर में मेलाटोनिन के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता है। यह आपके आईवीएफ के लिए स्वस्थ फोलिकल के विकास में भी मदद करता है।

अपने आईवीएफ उपचार के दौरान अपने शारीरिक और भावनाओ पर सकारात्मक नियंत्रण रखना आपकी सफल गर्भावस्था के अवसरों को बढ़ावा दे सकता है।

You may also link with us on Facebook, Instagram, Twitter, Linkedin, Youtube & Pinterest

Talk to the best team of fertility experts in the country today for all your pregnancy and fertility-related queries.

Call now +91-7665009014

 

Comments are closed.

Request Call Back
Call Back